Baazi Lyrics - King

Baazi Lyrics - King

LYRICS OF BAAZI IN HINDI: बाज़ी, the song is recorded by King from album Khwabeeda. "Baazi" is a Love song, composed by Section8, with lyrics written by King. The music video of the track features King and Natasha Bharadwaj.

Baazi Song Lyrics

Hum tumse jab milein
Milte hi rahein
Tumhein dekh ke mujhe lagta hai
Mere dil ko ek mili hai shanti

Kaafi hum phire
Tum tab jaake mile
Lagta nahi ye sach hai
Ya koyi khwaab hai

Mera toh fanna kar do
Aur nikal ke tu sach mein aaja
Iss duniya se mujhko chura ja

Jaanti abhi kya ho tum mere pyar ko
Ke mere jaisa koyi nahi hai
Ye meri hoke sabko bata ja

Tum dekh lo hai aakhiri
Kheli maine hai ye baazi
Tumhein jeet loon khud haar ke
Main bas ruka hoon tum kab ho raazi
Na na na na na

Kheli maine hai ye baazi
Main bas ruka hoon tum kab ho raazi

Baadalon se pare ek jahan hai
Kya jaana tum wahan pe rehti ho
Wahan pe rehti ho

Maine suna hai ke dil ko
Sambhale tum kab se
Yahan pe baithi ho
Yahan pe baithi ho

Jo kha chuka hoon chotein
Unko tum shafa kar do
Aur nikal ke tu sach mein aaja
Iss duniya se mujhko chura ja

Jaanti abhi kya ho tum mere pyar ko
Ke mere jaisa koyi nahi hai
Ye meri hoke sabko bata ja

Tum dekh lo hai aakhiri
Kheli maine hai ye baazi
Tumhein jeet loon khud haar ke
Main bas ruka hoon tum kab ho raazi

Na na na na na
Na na na na na

Tum dekh lo hai aakhiri
Kheli maine hai ye baazi
Tumhein jeet loon khud haar ke
Main bas ruka hoon tum kab ho raazi
Na na na na na.

बाज़ी Lyrics in Hindi

हम तुमसे जब मिलें
मिलते ही रहे
तुम्हें देख के मुझे लगता है
मेरे दिल को एक मिली है शांति

काफी हम फिरे
तुम तब जाके मिले
लगता नहीं ये सच है
या कोई ख्वाब है

मेरा तो फन्ना कर दो
और निकल के तू सच में आजा
इस दुनिया से मुझको चुरा जा

जानती अभी क्या हो तुम मेरे प्यार को
के मेरे जैसा कोई नहीं है
ये मेरी होके सबको बता जा

तुम देख लो है आखिरी
खेली मैंने है ये बाज़ी
तुम्हें जीत लून खुद हार के
मैं बस रुका हूँ तुम कब हो राज़ी
ना ना ना ना ना

खेली मैंने है ये बाज़ी
मैं बस रुका हूँ तुम कब हो राज़ी

बादलों से परे एक जहाँ है
क्या जाना तुम वहां पे रहती हो
वहां पे रहती हो

मैंने सुना है के दिल को
संभाले तुम कब से
यहाँ पे बैठी हो
यहाँ पे बैठी हो

जो खा चूका हूँ चोटें
उनको तुम शफा कर दो
और निकल के तू सच में आजा
इस दुनिया से मुझको चुरा जा

जानती अभी क्या हो तुम मेरे प्यार को
के मेरे जैसा कोई नहीं है
ये मेरी होके सबको बता जा

तुम देख लो है आखिरी
खेली मैंने है ये बाज़ी
तुम्हें जीत लून खुद हार के
मैं बस रुका हूँ तुम कब हो राज़ी

bharatlyrics.com

ना ना ना ना ना
ना ना ना ना ना

तुम देख लो है आखिरी
खेली मैंने है ये बाज़ी
तुम्हें जीत लून खुद हार के
मैं बस रुका हूँ तुम कब हो राज़ी
ना ना ना ना ना.

Baazi Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download

Leave a Reply