Jag Ke Malik Prabhu Ram Hai Lyrics - Avinash Karn

Jag Ke Malik Prabhu Ram Hai Lyrics - Avinash Karn

LYRICS OF 'JAG KE MALIK PRABHU RAM HAI' IN HINDI: जग के मालिक प्रभु राम है The song is sung by Avinash Karn from Shree Bhakti Ras. JAG KE MALIK PRABHU RAM HAI is a Bhajan song, composed by Avinash Karn, with lyrics written by Subhash Chand Bisariya.

हिंदी
English

जग के मालिक प्रभु राम है Lyrics in Hindi

जग के मालिक प्रभु राम है
सब से प्यारा यही नाम है
जग के मालिक प्रभु राम है
सब से प्यारा यही नाम है
सुनो भक्तो श्रीराम को सब से प्यारा हनुमान है
जग के मालिक प्रभु राम है

भारतलिरिक्स.कॉम

आया लंकापति सिया हर ले गया
अपने ही मोत को अपने घर ले गया
राम लक्ष्मण दुखी ढूंडते फिर रहे
कौन आकर सिया को इधर ले गया
आये लंका जला कर के तूम
तोडा रावन का अभिमान है
सुनो भक्तो श्री राम को सब से प्यारा हनुमान है
जग के मालिक प्रभु राम है

तीर दिल पर लगा जब लखनलाल को
तुमने वापस किया वीर के काल को
लाकर बूटी उसे दान जीवन दियां
नही झुकने दिया राम के भाल को
तेरे दम से ही पूरा हुआ
राम सीता का अरमान है
सुनो भक्तो श्री राम को सब से प्यारा हनुमान है
जग के मालिक प्रभु राम है

याद जिसने किया नाम जिस ने लिया
पार भव से उसे तूने पल में किया
मीठी आवाज दी तूने अविनाश को
जो बिसरियां लिखे तेरी वंदन है वो
तेरी भक्ति दिलो में रहे
मांगू इतना सा वरदान है
सुनो भक्तो श्री राम को सब से प्यारा हनुमान है
जग के मालिक प्रभु राम है.

Jag Ke Malik Prabhu Ram Hai Song Lyrics

Jag ke malik prabhu ram hai
Sab se pyara yahi naam hai
Jag ke malik prabhu ram hai
Sab se pyara yahi naam hai
Suno bhakto shriram ko sab se pyara hanuman hai
Jag ke malik prabhu ram hai

bharatlyrics.com

Aaya lankapati siya har le gaya
Apne hi maut ko apne ghar le gaya
Ram lakshman dukhi dhundate phir rahe
Kaun aakar siya ko idhar le gaya
Aaye lanka jala kar ke tu
Toda ravan ka abhiman hai
Suno bhakto shri ram ko sab se pyara hanuman hai
Jag ke malik prabhu ram hai

Teer dil par laga jab lakhanlal ko
Tumne vapasi kiya veer ke kal ko
Lakar bhuti use dan jeevan diyan
Nahi jhukne diya ram ke bhal ko
Tere dam se hi pura hua
Ram sita ka aarman hai
Suno bhakto shri ram ko sab se pyara hanuman hai
Jag ke malik prabhu ram hai

Yaad jisne kiya naam jis ne liya
Par bhav se use tune pal mein kiya
Mithi avaj di tune avinash ko
Jo bisariyan likhe teri vandan hai vo
Teri bhakti dilo mein rahe
Mangu itana sa vardan hai
Suno bhakto shri ram ko sab se pyara hanuman hai
Jag ke malik prabhu ram hai.

Print PDF      PDF Download

Leave a Reply