Kaali Raat Lyrics - Neha Karode

Kaali Raat

LYRICS OF 'KAALI RAAT' IN HINDI: काली रात The song is sung by Neha Karode from Zee Music Company. KAALI RAAT is a Playful song, composed by Himanshu Kohli, with lyrics written by Himanshu Kohli.

Kaali Raat Song Lyrics

Dheere dheere yeh sab hua
Jaane anjaane yeh kab hua

Abhi toh saath tha tu
Nazar ke saamne hi
Meri subah me jaane kaise
Kaali raat aa gayi

Tune dil toda hai mera
Akela mujhko hai chhoda
Aadhe safar me jaane kaise
Yeh ghata chhaa gayi

Teri yaad aa gayi
Tune dil toda hai mera
Akela mujhko hai chhoda
Hai reh gaya kya kuchh baaki

Fursat mile jo tujhko
Aana yahan do pal ko
Palkein bichhaaye baithe
Tere liye aaj bhi
Teri yaad aa gayi

Tune dil toda hai mera
Akela mujhko hai chhoda
Aadhe safar me jaane kaise
Yeh ghata chhaa gayi
Teri yaad aa gayi

Badla hai aise ke tu
Mausam bhi badle na ho
Khaamosh baatein mere dil ki
Kyun samjhe na tu

Teri nadaaniyon se
Tang aa gayi hoon ab main
Lagne laga hai kyun
I’m just drowning drowning down

Tune dil toda hai mera
Akela mujhko hai chhoda
Hai reh gaya kya kuchh baaki

Tere labon se nikli
Baatein thi jhoothi saari
Bikhri hoon main aur
Toota hai dil mera aaj bhi
Teri yaad aa gayi

bharatlyrics.com

Tune dil toda hai mera
Akela mujhko hai chhoda
Aadhe safar me jaane kaise
Yeh ghata chhaa gayi
Teri yaad aa gayi

काली रात Lyrics in Hindi

धीरे धीरे ये सब हुआ
जाने अंजाने ये कब हुआ

अभी तो साथ था तू
नजर के सामने ही
मेरी सुबह में जाने कैसे
काली रात आ गई

भारतलिरिक्स.कॉम

तूने दिल तोड़ा है मेरा
अकेला मुझको है छोड़ा
आधे सफर में जाने कैसे
ये घटा छा गई

तेरी याद आ गई
तूने दिल तोड़ा है मेरा
अकेला मुझको है छोड़ा
है रह गया क्या कुछ बाकी

फुर्सत मिले जो तुझको
आना यहाँ दो पल को
पलकें बिछाए बैठे
तेरे लिए आज भी
तेरी याद आ गई

तूने दिल तोड़ा है मेरा
अकेला मुझको है छोड़ा
आधे सफर में जाने कैसे
ये घटा छा गई
तेरी याद आ गई

बदला है ऐसे की तू
मौसम भी बदले ना हो
ख़ामोश बातें मेरे दिल की
क्यों समझे ना तू

तेरी नादानियों से
तंग आ गई हूँ अब मैं
लगने लगा है क्यों
आई एम जस्ट ड्रोनिंग ड्रोनिंग डाउन

तूने दिल तोड़ा है मेरा
अकेला मुझको है छोड़ा
है रह गया क्या कुछ बाकी

तेरी लबों से निकली
बातें थीं झूठी सारी
बिखरी हूँ मैं और
तूटा है दिल मेरा आज भी
तेरी याद आ गई

तूने दिल तोड़ा है मेरा
अकेला मुझको है छोड़ा
आधे सफर में जाने कैसे
ये घटा छा गई
तेरी याद आ गई

Kaali Raat Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download

Leave a Reply