Khamoshi Lyrics - Ritviz

Khamoshi Lyrics - Ritviz

LYRICS OF 'KHAMOSHI' IN HINDI: ख़ामोशी The song is sung by Ritviz from Ritviz. KHAMOSHI is a Playful song, composed by Ritviz and Karan Kanchan, with lyrics written by Ritviz and Encore. The music video of the track is picturised on Rudraksh Thakur and Aarsha Mohan.

Khamoshi Song Lyrics

bharatlyrics.com

Yeh silsila hai
Hum tum yahan hai
Uljhan hawa mein hai na

Gir hi raha hai kaisa kuan hai
Wakt ab khuda hi hai na

Bheeni bheeni si yeh jo raatein
Raatein jo teri
Baaton pe baatein badhaye na

Bhore bhage bhage re
Manwa maane na maane jo teri
Yaadein sau yaadein sataye na

Khamoshi sehna yeh nahi zaroori
Khamoshi sehna yeh nahi zaroori

Yeh silsila hai
Hum tum yahan hai
Uljhan hawa mein hai na

Gir hi raha hai kaisa kuan hai
Wakt ab khuda hi hai na

Aaye na jaye na yaad aa raha
Par milna ho na saka
Par milna ho na saka

Khamoshi yeh silsila hai
Hum tum yahan hai
Uljhan hawa mein hai na

Gir hi raha hai kaisa kuan hai
Wakt ab khuda hi hai na

Bheeni bheeni si yeh jo raatein
Raatein jo teri
Baaton pe baatein badhaye na

Bhore bhage bhage re
Manwa maange na maange jo teri
Yaadein sau yaadein sataye na

Khamoshi sehna yeh nahi zaroori
Khamoshi sehna yeh nahi zaroori

Yeh silsila hai
Hum tum yahan hai
Uljhan hawa mein hai na

Gir hi raha hai kaisa kuan hai
Wakt ab khuda hi hai na.

ख़ामोशी Lyrics in Hindi

भारतलिरिक्स.कॉम

ये सिलसिला है
हम तुम यहाँ है
उलझन हवा में है ना

गिर ही रहा है कैसा कुआँ है
वक्त अब खुदा ही है ना

भीनी भीनी सी ये जो रातें
रातें जो तेरी
बातों पे बातें बढ़ाये ना

भोरे भागे भागे रे
मनवा माने ना माने जो तेरी
यादें सौ यादें सताये ना

ख़ामोशी सहना ये नहीं ज़रूरी
ख़ामोशी सहना ये नहीं ज़रूरी

ये सिलसिला है
हम तुम यहाँ है
उलझन हवा में है ना

गिर ही रहा है कैसा कुआँ है
वक्त अब खुदा ही है ना

आये ना जाये ना याद आ रहा
पर मिलना हो ना सका
पर मिलना हो ना सका

ख़ामोशी ये सिलसिला है
हम तुम यहाँ है
उलझन हवा में है ना

गिर ही रहा है कैसा कुआँ है
वक्त अब खुदा ही है ना

भीनी भीनी सी ये जो रातें
रातें जो तेरी
बातों पे बातें बढ़ाये ना

भोरे भागे भागे रे
मनवा माने ना माने जो तेरी
यादें सौ यादें सताये ना

ख़ामोशी सहना ये नहीं ज़रूरी
ख़ामोशी सहना ये नहीं ज़रूरी

ये सिलसिला है
हम तुम यहाँ है
उलझन हवा में है ना

गिर ही रहा है कैसा कुआँ है
वक्त अब खुदा ही है ना.

Khamoshi Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download

Leave a Reply