Shabri Ko Bharosa Hai Lyrics - Anuradha Paudwal, Ashok Sharma

Shabri Ko Bharosa Hai Lyrics - Anuradha Paudwal, Ashok Sharma

शबरी को भरोसा है | SHABRI KO BHAROSA HAI LYRICS IN HINDI: The song is sung by Anuradha Paudwal and Ashok Sharma under T-Series Bhakti Sagar label. SHABRI KO BHAROSA HAI song was composed by Harvinder Babbi, with lyrics written by Jitendra Raghuvanshi.

शबरी को भरोसा है Lyrics in Hindi

बेर मीठे मीठे मेरे हाथो से वो खाएंगे
बेर मीठे मीठे मेरे हाथो से वो खाएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे

नैनो के सम्मुख दो घडी तो बिताएंगे
नैनो के सम्मुख दो घडी तो बिताएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे

भारतलिरिक्स.कॉम

रास्ते के कांटे कंकर रात दिन हटाते है
रास्ते के कांटे कंकर रात दिन हटाते है
बिशा कर के फूल प्रभु को रास्ता बनाते है
बिशा कर के फूल प्रभु को रास्ता बनाते है

कोमल है पात प्रभु के कांटे लग जाएंगे
कोमल है पात प्रभु के कांटे लग जाएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे

हो कर अहिल्या पत्थर राह में खड़ी है
हो कर अहिल्या पत्थर राह में खड़ी है
चरणों की रज पाने को व्याकुल बड़ी है
चरणों की रज पाने को व्याकुल बड़ी है

विश्वास रघुवर उसका तोड़ नहीं पाएंगे
विश्वास रघुवर उसका तोड़ नहीं पाएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे

कृपा मई मेरे राम है बड़े दयालु जी
कृपा मई मेरे राम है बड़े दयालु जी
पाते है प्रीत उनकी बंदर भालू भी
पाते है प्रीत उनकी बंदर भालू भी

दया की नजर मेरी और भी घुमाएंगे
दया की नजर मेरी और भी घुमाएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे

नैनो के सम्मुख दो घडी तो बिताएंगे
नैनो के सम्मुख दो घडी तो बिताएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे
शबरी को भरोसा है के राम मेरे आएंगे.

Shabri Ko Bharosa Hai Song Lyrics

Bair meethe meethe mere hatho se vo khayenge
Bair meethe meethe mere hatho se vo khayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge
Shabri ko bharosa hai kei ram mere aayenge

bharatlyrics.com

Naino ke sammukh do ghadi to bitayenge
Naino ke sammukh do ghadi to bitayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge

Raste ke kante kankar raat din hatate hai
Raste ke kante kankar raat din hatate hai
Bisha kar ke phool prabhu ko raasta banate hai
Bisha kar ke phool prabhu ko raasta banate hai

Komal hai paat prabhu ke kaante lag jayenge
Komal hai paat prabhu ke kaante lag jayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge

Ho kar ahilya patthar raah mein khade hai
Ho kar ahilya patthar raah mein khade hai
Charano ki raj pane ko vyakul badi hai
Charnao ki raj pane ko vyakul badi hai

Vishwas raghuvar uska tod nahin payenge
Vishwas raghuvar uska tod nahin payenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge

Krupa maai mere ram hai bade dayalu ji
Krupa maai mere ram hai bade dayalu ji
Pate hai preet unaki bandar bhalu bhi
Pate hai preet unaki bandar bhalu bhi

Daya ki najar meri aur bhhi ghumayege
Daya ki najar meri aur bhhi ghumayege
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge

Naino ke sammukh do ghadi to bitayenge
Naino ke sammukh do ghadi to bitayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge
Shabri ko bharosa hai ki ram mere aayenge.

Shabri Ko Bharosa Hai Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download

Leave a Reply