Tum Badal Rahe Ho Lyrics - Sakshi Holkar

Tum Badal Rahe Ho

TUM BADAL RAHE HO LYRICS: The song is sung by Sakshi Holkar under Zee Music Company label. TUM BADAL RAHE HO song was composed by Mandeep Panghal, with lyrics written by Rakesh Kumar (Kumaar).

Tum Badal Rahe Ho Song Lyrics

Tum badal rahe ho
Saaf saaf dikhta hain
Tum badal rahe ho
Saaf saaf dikhta hain

Pass rahkar bhi mere
Durr durr chal rahe ho
Pass rahkar bhi mere
Durr durr chal rahe ho
Saaf saaf dikhta hain

Tum mere nahi na sahi
Mana liya maine
Dil mein tumhare kya chupa hain
Jaan liya maine

Par hota wahi hain jo
Yaara rabb likhata hain
Hota wahi hain jo
Yaara rabb likhata hain

Tum badal rahe ho
Saaf saaf dikhta hain

Ankhon mein bhi pehle jaisa
Pyaar nazar nahi ata hain
Tham bhi lu hathon ko to
Aitbaar nazar nahin ata hain

Ankhon mein bhi pehle jaisa
Pyaar nazar nahi aata hain
Tham bhi lu hathon ko to
Aitbaar nazar nahin ata hain

bharatlyrics.com

Zindagi se meri aab tum
Chup ke nikal rahe ho
Saaf saaf dikhta hain

Tum mere nahi na sahi
Mana liya maine
Dil mein tumhare kya chupa hain
Jaan liya maine

Par hota wahi hain jo
Yaara rabb likhata hain
Hota wahi hain jo
Yaara rabb likhata hain

Tum badal rahe ho
Saaf saaf dikhta hain

Beech rastein mein
Lagane laga hain
Ki aab main tumhari
Manzil nahi hoon

Tum jate jate etana batado
Kya main tumhare kabil nahi
Girake mujhe safar mein
Khud kahin sambhal rahe ho
Saaf saaf dikhta hain

Tum badal rahe ho
Saaf saaf dikhta hain

Tum mere nahi na sahi
Mana liya maine
Dil mein tumhare kya chupa hain
Jaan liya maine

Par hota wahi hain jo
Yaara rabb likhata hain
Hota wahi hain jo
Yaara rabb likhata hain

Tum badal rahe ho
Saaf saaf dikhta hain

तुम बदल रहे हो Lyrics in Hindi

तुम बदल रहे हो
साफ साफ दिखता है
भारतलिरिक्स.कॉम

तुम बदल रहे हो
साफ साफ दिखता है

पास रहकर भी मेरे
दूर दूर चल रहे हो
पास रहकर भी मेरे
दूर दूर चल रहे हो
साफ साफ दिखता है

तुम मेरे नहीं ना सही
मान लिया मैंने
दिल में तुम्हारे क्या छुपा हैं
जान लिया मैंने

पर होता वही हैं जो
यारा रब लिखता हैं
होता वही हैं जो
यारा रब लिखता हैं

तुम बदल रहे हो
साफ साफ दिखता है

आँखों में भी पहले जैसा
प्यार नज़र नहीं आता हैं
थाम भी लू हाथों को तो
ऐतबार नज़र नहीं आता हैं

आँखों में भी पहले जैसा
प्यार नज़र नहीं आता हैं
थाम भी लू हाथों को तो
ऐतबार नज़र नहीं आता हैं

ज़िंदगी से मेरी ब तुम
छुपके निकल रहे हो
साफ साफ दिखता हैं

तुम मेरे नहीं ना सही
माना लिया मैंने
दिल में तुम्हारे क्या छुपा हैं
जान लिया हैं मैंने

पर होता वही हैं जो
यारा रब लिखता हैं
होता वही हैं जो
यारा रब लिखता हैं

तुम बदल रहे हो
साफ साफ दिखता हैं

बीच रस्ते में
लगने लगा हैं
कि अब मैं तुम्हारी
मंज़िल नहीं हूँ

तुम जाते जाते इतना बतादो
क्या मैं तुम्हारे क़ाबिल नहीं
गिराके मुझे सफर में
खुद कहीं संभाल रहे हो
साफ साफ दिखता हैं

तुम बदल रहे हो
साफ साफ दिखता हैं

तुम मेरे नहीं ना सही
माना लिया मैंने
दिल में तुम्हारे क्या छुपा हैं
जान लिया हैं मैंने

पर होता वही हैं जो
यारा रब लिखता हैं
होता वही हैं जो
यारा रब लिखता हैं

तुम बदल रहे हो
साफ साफ दिखता हैं

Tum Badal Rahe Ho Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download

Leave a Reply