चिलम से धुआ निकल रहा है Chilam Se Dhua Nikal Raha Hai Lyrics - Antra Singh Priyanka

Chilam Se Dhua Nikal Raha Hai lyrics, चिलम से धुआ निकल रहा है the song is sung by Antra Singh Priyanka from Wave Music. The music of Chilam Se Dhua Nikal Raha Hai Devotional track is composed by Raushan Singh while the lyrics are penned by Arjun Sharma.

Chilam Se Dhua Nikal Raha Hai Lyrics

Ka bhauji, kaisan, pranaam !
Sagharo awaj sunayi de raha hai
Bol bam ka
Are ka batabe dewar ji
Jab se sawan chadha hai na
Ajbe leela ho raha hai
Leela are tore ke, ka hai leela

Jab se sawan mahina chadh gaya hai
Bhakt bhole baba ka bigad gaya hai

Jab se sawan mahina chadh gaya hai
Bhakt bhole baba ka bigad gaya hai

Bhagti me jee raha hai
Boot saata pee raha hai

Bhagti me jee raha hai
Boot saata pee raha hai

Tension tola raha hai

Are aur suniyega
Dimaag fail ho jayega

Are batayiye na bhauji
Aur ka chal raha hai

Sawan me ganja chal raha hai
Chilam se dhua nikal raha hai

Sawan me ganja chal raha hai
Chilam se dhua nikal raha hai

Samjhe dewarji
Are aap samaj ne ki baat kar rahe hai
Aur yahan samajdari ka nus ful raha hai
Aa bhakti me mera dimaag jhul raha hai
Ha ha ha ha ha ha

Abhi ta jhuliye raha hai ya ful raha hai
Aage suniye na
Ha ta sunaiye na bhauji

Charo aur ya baadal hai chhaya
Lag raha hai good ji

Paani chhamcham baras raha hai
Sabka happy hai mood ji

Charo aur ya baadal hai chhaya
Lag raha hai good ji

Paani chhamcham baras raha hai
Sabka happy hai mood ji

Suliya pahaad dekho chadh rahe hai

Suliya pahaad dekho chadh rahe hai
Kami na kuchh khal raha hai

Chalna hai ta chaliye
Na ta yahin ganja modiye

Are ta aur ka ka chal raha hai
Ab jaldi bataiye na

Ha ta suniye
Sawan me ganja chal raha hai
Chilam se dhua nikal raha hai

Sawan me ganja chal raha hai
Chilam se dhua nikal raha hai

Aap sahuye kah rahe hai bhauji
Ta hum log kahe pichhe rahe
Apna puranbe wala pikup hayi nu hai
Sab badhiya thhus ke jayenge
Aa mandir me ghus ke jal chadhaiye na deniye
Achha ta thik hai lekin uhan satka bhi padta hai

Shahariyan ki navki dulhin
Thumka dekho laga rahi hai

Antra singh priyanka ka gaana
Jamke wo baja rahi hai

Ta humni sawan kahe kon hai bhauji

Shahariyan ki navki dulhin
Thumka dekho laga rahi hai

Antra singh priyanka ka gaana
Jamke wo to baja rahi hai

Arjun sharma bol bam chillaye
Parmeswar mahadev bol bam chillaye
Kahe jinagi badal raha hai

Are ab to samaj gaye na
Are sab upare se nikal ja raha bhauji

Sawan me ganja chal raha hai
Chilam se dhua nikal raha hai

Sawan me ganja chal raha hai
Chilam se dhua nikal raha hai

Are apna to maja hi maja hai
Aa humara paas ganja hi ganja hai

चिलम से धुआ निकल रहा है Lyrics In Bhojpuri

का भौजी, कइसन, परनाम !
सगरो आवाज सुनाई दे रहा है
बोल बम का
अरे का बताबे देवर जी
जब से सावन चढ़ा है ना
अजबे लीला हो रहा है
लीला अरे तोरे के, का है लीला

bharatlyrics.com

जब से सावन महीना चढ़ गया है
भक्त भोले बाबा का बिगड़ गया है

जब से सावन महीना चढ़ गया है
भक्त भोले बाबा का बिगड़ गया है

भगति में जी रहा है
बूट साटा पी रहा है

भगति में जी रहा है
बूट साटा पी रहा है

टेंशन टोला रहा hai

अरे और सुनियेगा
दिमाग फ़ैल हो जायेगा

अरे बताईये ना भौजी
और का चल रहा है

सावन में गांजा चल रहा है
चिलम से धुआँ निकल रहा है

सावन में गांजा चल रहा है
चिलम से धुआँ निकल रहा है

समझे देवरजी
अरे आप समज ने की बात कर रहे है
और यहाँ समझदारी का नुस फूल रहा है
आ भक्ति में मेरा दिमाग झूल रहा है
ह ह ह ह ह ह

अभी ता झुलिये रहा है या फूल रहा है
आगे सुनिए ना
हा ता सुनाइए ना भौजी

चारो और या बादल है छाया
लग रहा है गुड जी

पानी छमछम बरस रहा है
सबका हैप्पी है मूड जी

चारो और या बादल है छाया
लग रहा है गुड जी

पानी छमछम बरस रहा है
सबका हैप्पी है मूड जी

सुलिया पहाड़ देखो चढ़ रहे है

सुलिया पहाड़ देखो चढ़ रहे है
कमी ना कुछ खल रहा है

चलना है ता चलिए
ना ता यहीं गांजा मोड़िये

अरे ता और का का चल रहा है
अब जल्दी बताइये ना

हा ता सुनिए
सावन में गांजा चल रहा है
चिलम से धुआँ निकल रहा है

सावन में गांजा चल रहा है
चिलम से धुआँ निकल रहा है

आप सहूये कह रहे है भौजी
ता हम लोग काहे पीछे रहे
अपना पुरानबे वाला पिकअप हाई नू है
सब बढ़िया ठूस के जायेंगे
आ मंदिर में घुस के जल चढ़ाइये ना देनिये
अच्छा ता ठीक है लेकिन उहाँ सटका भी पड़ता है

शहरियाँ की नवकी दुल्हिन
ठुमका देखो लगा रही है

अंतरा सिंघ प्रियंका का गाना
जमके वो बजा रही है

ता हमनी सावन काहे कोन है भौजी

शहरियाँ की नवकी दुल्हिन
ठुमका देखो लगा रही है

अंतरा सिंघ प्रियंका का गाना
जमके वो तो बजा रही है

अर्जुन शर्मा बोल बम चिल्लाये
परमेश्वर महादेव बोल बम चिल्लाये
कहे जिनगी बदल रहा है

अरे अब तो समज गए ना
अरे सब उपरे से निकल जा रहा भौजी

सावन में गांजा चल रहा है
चिलम से धुआँ निकल रहा है

सावन में गांजा चल रहा है
चिलम से धुआँ निकल रहा है

अरे अपना तो मजा ही मजा है
आ हमरा पास गांजा ही गांजा है

Chilam Se Dhua Nikal Raha Hai Lyrics PDF Download
Print Print PDF     Pdf PDF Download