Dua Lyrics - Manan Bhardwaj

Dua Lyrics - Manan Bhardwaj

DUA LYRICS IN HINDI: दुआ, The song is sung by Manan Bhardwaj and released by T-Series label. DUA is a Sad song, composed by Manan Bhardwaj, with lyrics written by Manan Bhardwaj. The music video of this song is picturised on Manan Bhardwaj, Kaashish Vohra and Rahul Jaittly.

Dua Song Lyrics

Haan patthar ko apna samajh kar
Ek sheesha toot gaya
Ek soone raste par
Haan main akela chhoot gaya

Lag jaati hai aag zehan main
Jab jab bhi barsaat ho
Roz sota hoon yeh soch kar
Aaj aakhiri raat ho

Main dua karunga allah se
Meri maut tere hath ho
Aur agle janam mein phir se
Meri aashiq wali jaat ho

Main dua karunga allah se
Meri maut tere hath ho
Aur agle janam mein phir se
Meri aashiq wali jaat ho

Kya tumhein pata kitna darte hain
Hum ab ishq ke naam se
Acche khaase shayar the
Ab nahi rahe kisi kaam ke

Aa jaati hai yaad tumhari
Kaagaz kalam uthate hi
Kitne kaagaz phainke maine
Likh likh kar tere naam ke

Kya kya likha tha maine tujh par
Shayad tujhko yaad ho
Roz sota hoon yeh soch kar
Kaash tujhse baat ho

Main dua karunga allah se
Meri maut tere hath ho
Aur agle janam mein phir se
Meri aashiq wali jaat ho

Jahan rehte hain toote aashiq
Main usi jagah pe milta hoon
Tu koshish kar sun ne toh aa
Main aaj bhi gaane likhta hoon

Maine bhi kuchh dil tode hai
Jaise mera toone toda tha
Mujhe kehne lage hai saare
Ab main tere jaisa dikhta hoon

Jab jaaun main iss duniya se
Uss din khuda barsaat ho
Aur agle janam mein phir se
Meri aashiq wali jaat ho

Kya khud ko khuda maante ho
Kya khud ko khuda maante ho
Humein maar toh diya
Par ek shayar ko maarne ki
Saza jaante ho.

दुआ Lyrics in Hindi

हाँ पत्थर को अपना समझ कर
एक शीशा टूट गया
एक सूने रस्ते पर
हाँ मैं अकेला छूट गया

लग जाती है आग ज़ेहन मैं
जब जब भी बरसात हो
रोज़ सोता हूँ ये सोच कर
आज आखिरी रात हो

मैं दुआ करूँगा अल्लाह से
मेरी मौत तेरे हाथ हो
और अगले जनम में फिर से
मेरी आशिक़ वाली जात हो

मैं दुआ करूँगा अल्लाह से
मेरी मौत तेरे हाथ हो
और अगले जनम में फिर से
मेरी आशिक़ वाली जात हो

bharatlyrics.com

क्या तुम्हें पता कितना डरते हैं
हम अब इश्क़ के नाम से
अच्छे खासे शायर थे
अब नहीं रहे किसी काम के

आ जाती है याद तुम्हारी
कागज़ कलम उठाते ही
कितने कागज़ फेंके मैंने
लिख लिख कर तेरे नाम के

क्या क्या लिखा था मैंने तुझ पर
शायद तुझको याद हो
रोज़ सोता हूँ ये सोच कर
काश तुझसे बात हो

मैं दुआ करूँगा अल्लाह से
मेरी मौत तेरे हाथ हो
और अगले जनम में फिर से
मेरी आशिक़ वाली जात हो

जहाँ रहते हैं टूटे आशिक़
मैं उसी जगह पे मिलता हूँ
तू कोशिश कर सुन ने तो आ
मैं आज भी गाने लिखता हूँ

मैंने भी कुछ दिल तोड़े है
जैसे मेरा तूने तोडा था
मुझे कहने लगे है सारे
अब मैं तेरे जैसा दीखता हूँ

जब जाऊं मैं इस दुनिया से
उस दिन खुदा बरसात हो
और अगले जनम में फिर से
मेरी आशिक़ वाली जात हो

क्या खुद को खुदा मानते हो
क्या खुद को खुदा मानते हो
हमें मार तो दिया
पर एक शायर को मारने की
सजा जानते हो.

Dua Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download

Leave a Reply