Haq Hussain Lyrics - Saaj Bhatt, Brijesh Shandilya, Anis Ali Sabri

Haq Hussain Lyrics - Saaj Bhatt, Brijesh Shandilya, Anis Ali Sabri

HAQ HUSSAIN LYRICS IN HINDI: The song "Haq Hussain" is sung by Saaj Bhatt, Brijesh Shandilya and Anis Ali Sabri from Vidyut Jammwal and Shivaleeka Oberoi starrer film Khuda Haafiz: Chapter II – Agni Pariksha, directed by Faruk Kabir. HAQ HUSSAIN song was composed by Shabbir Ahmed, with lyrics written by Shabbir Ahmed and Ayaz Kohli.

Rago mein khun hai
Nahi sookun hai
Dehakte kalb mein
Bhara junoon hai

Zulm ke khilaf
Ye haq ki jung hai
Shamshir pe chadha
Lahu ka rang hai

Toofan chal pada
Mitane kaafila
Ali ka noor hai na
Wo navi ka chain hai

Hussain hai hussain hai
Noor-e-haq hussain hai
Hussain hai hussain hai
Imaam-e-haq hussain hai

Hazar laskaron pe bhaari
Naam ek hussain hai
Hussain hai hussain hai
Noor-e-haq hussain hai

Aasmaan pe hai adam
Jameen hai lahu se nam
Sulagti aag narm mein
Bhadak rahi hai dum badam

Utha humari jism se
Lahu mein ek ubaal hai
Aju ke waste yahan
Kadam kadam mazal hai

Tumhe to ilm hi nahi
Zara bhi unke garbh ka
Baha na de kahin tumhe
Toofan unke sabr ka

Baha na de kahin tumhe
Toofan unke sabr ka
Kehar kehar baras pada
Jidhar uthaye nain hai

Hussain hai hussain hai
Noor-e-haq hussain hai
Hussain hai hussain hai
Imaam-e-haq hussain hai

Hazar laskaron pe bhaari
Naam ek hussain hai
Hussain hai hussain hai
Noor-e-haq hussain hai

Haan ali
Haan ali

Har daur uthegi
Haq ke liye shamshir
Har baar tootegi
Burai ki janjir

Har daur uthegi
Haq ke liye shamshir
Har baar tootegi
Burai ki janjir

Jung ki dahaad hai
Sar pe junoon sawar hai
Na behne ka hai dar ise
Lahu ki ye lalkaar hai
Rivayate hussain hi mazboor hai

Hussain hai hussain hai
Noor-e-haq hussain hai
Hussain hai hussain hai
Imaam-e-haq hussain hai

Hussain hai hussain hai
Noor-e-haq hussain hai.

हक़ हुसैन Lyrics in Hindi

रगो में खून है
नहीं सुकून है
दहकते कल्ब में
भरा जूनून है

जुल्म के खिलाफ
ये हक़ की जंग है
शमशीर पे चढ़ा
लहू का रंग है

तूफ़ान चल पड़ा
मिटाने काफिला
अली का नूर है न
वो नवी का चैन है

हुसैन है हुसैन है
नूर-ए-हक़ हुसैन है
हुसैन है हुसैन है
इमाम-ए-हक़ हुसैन है

हज़ार लश्करों पे भारी
नाम एक हुसैन है
हुसैन है हुसैन है
नूर-ए-हक़ हुसैन है

आसमान पे है अडम
जमीन है लहू से नम
सुलगती आग नर्म में
भड़क रही है दम बदम

उठा हमारी जिस्म से
लहू में एक उबाल है
अजु के वास्ते यहाँ
कदम कदम मज़ाल है

तुम्हे तो इल्म ही नहीं
ज़रा भी उनके गर्भ का
बहा ना दे कहीं तुम्हे
तूफ़ान उनके सब्र का

बहा ना दे कहीं तुम्हे
तूफ़ान उनके सब्र का
केहर केहर बरस पड़ा
जिधर उठाये नैन है

हुसैन है हुसैन है
नूर-ए-हक़ हुसैन है
हुसैन है हुसैन है
इमाम-ए-हक़ हुसैन है

हज़ार लश्करों पे भारी
नाम एक हुसैन है
हुसैन है हुसैन है
नूर-ए-हक़ हुसैन है

bharatlyrics.com

हाँ अली
हाँ अली

हर दौर उठेगी
हक़ के लिए शमशीर
हर बार टूटेगी
बुराई की जंजीर

हर दौर उठेगी
हक़ के लिए शमशीर
हर बार टूटेगी
बुराई की जंजीर

जंग की दहाड़ है
सर पे जूनून सवार है
ना बहने का है डर इसे
लहू की ये ललकार है
रिवायते हुसैन ही मजबूर है

हुसैन है हुसैन है
नूर-ए-हक़ हुसैन है
हुसैन है हुसैन है
इमाम-ए-हक़ हुसैन है

हुसैन है हुसैन है
नूर-ए-हक़ हुसैन है.

Haq Hussain Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download