Ishq Karu Lyrics - Shashwat Singh, Arunita Kanjilal

Ishq Karu Lyrics - Shashwat Singh, Arunita Kanjilal

Ishq Karu Song Lyrics

Jane tu dil mein kya mere
Janu main dil mein kya tere

Phir bhi hain baatein kayi
Aab tak na humne kahi
Ashko mein beh jaye na
Mera dil yeh daarta hai kyun

Ishq karu karta rahu
Mar ke bhi tera rahu

Teri yaade leke chala
Kahe dil ka yeh raasta
Laut kar jo main na aaya
Dena mujhko bhula

Tu jo dur hai to
Besans hu bejaan hu
Teri jo riza hai
Kaise bata maan lu

Ishq karu karti rahu

Tere saath meri duaa
Rahe yaar jaise hawa
Mene saari mannato mein
Naam tera likha

Rab jo de izajat
Rab ka likha main mod du
Tujhse kismato ke
Tare sab jod du

Ishq karu karti rahu
Mar ke bhi teri rahu.

इश्क़ करू Lyrics in Hindi

जाने तू दिल में क्या मेरे
जानु मैं दिल में क्या तेरे

फिर भी हैं बातें कई
अब तक ना हमने कही
अश्को में बह जाये ना
मेरा दिल ये डरता है क्यूं

bharatlyrics.com

इश्क़ करू करता रहु
मर के भी तेरा रहु

तेरी यादे लेके चला
कहे दिल का ये रास्ता
लौट कर जो मैं ना आया
देना मुझको भुला

तू जो दूर है
बेसांस हु बेजान हु
तेरी जो रिज़ा है
कैसे बता मान लू

इश्क़ करू करती रहु

तेरे साथ मेरी दुआ
रहे यार जैसे हवा
मैने सारी मन्नतो में
नाम तेरा लिखा

रब जो दे इजाजत
रब का लिखा मैं मोड़ दू
तुझसे किस्मतो के
तारे सब जोड़ दू

इश्क़ करू करती रहु
मर के भी तेरी रहु.

Ishq Karu Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download

Leave a Reply