Kachiyaan Kachiyaan Lyrics - Jubin Nautiyal, Piyush Mehroliyaa

Kachiyaan Kachiyaan Lyrics - Jubin Nautiyal, Piyush Mehroliyaa

कचियाँ कचियाँ | KACHIYAAN KACHIYAAN LYRICS IN HINDI: The song is sung by Jubin Nautiyal and Piyush Mehroliyaa under T-Series label. KACHIYAAN KACHIYAAN song was composed by Meet Bros, with lyrics written by Rakesh Kumar (Kumaar). The music video of this Sad song stars Karan Mehra, Ihana Dhillon and Amardeep Phogat.

Roz raat takiye pe
Aansuon ki baarish hai
Dhadkane nahi dil mein
Gham ki rehaish hai

Roz raat takiye pe
Aansuon ki baarish hai
Dhadkane nahi dil mein
Gham ki rehaish hai

Ishq ho barabar ka
Bas yehi thi chahat
Ek taraf bechaini kyun
Ek taraf hai raahatein

Tu soye main taare gina
Kachiyaan kachiyaan
Kachiyaan kachiyaan hai
Nindra tere bina

Kachiyaan kachiyaan hai
Nindra tere bina
Tum ho soye
Yahan pe main taare gina
Kachiyaan kachiyaan

Mere labon pe to
Bas hain shikayatein
Milti nahi hain
Kyun dard mein riyayatein

Hmm mere labon pe to
Bas hain shikayatein
Milti nahi hain
Kyun dard mein riyayatein

Ye toota dil toote
Khwabon ke silsile
Aur kuch nahi hain
Yeh teri inayatein

Patjhad yahan wahan pe
Gulaabon ke mausam hain
Dhadkanein wahan zyada
Saansein yahan kam hain

Tu soye main taare gina
Kachiyaan kachiyaan
Kachiyaan kachiyaan hai
Nindra tere bina

Kachiyaan kachiyaan hai
Nindra tere bina
Tum ho soye
Yahan pe main taare gina

Main tere nazdeek
Tu mujhse door hai
Sochta hai dil
Koyi baat to zaroor hai

Main tere nazdeek
Tu mujhse door hai
Sochta hai dil
Koyi baat to zaroor hai

Marzi hai teri
In faaslon mein aakhir
Itna bata kya
Yeh ishq-e-dastoor hai

Main udaas baitha hoon
Tu khushi ki baahon mein
Manzilon pe tu hai
Main reh gaya hoon raahon mein

Tu soye main taare gina
Kachiyaan kachiyaan
Kachiyaan kachiyaan hai
Nindra tere bina

Kachiyaan kachiyaan hai
Nindra tere bina
Tum ho soye
Yahan pe main taare gina
Kachiyaan kachiyaan.

कचियाँ कचियाँ Lyrics in Hindi

रोज़ रात तकिये पे
आंसुओं की बारिश है
धड़कने नहीं दिल में
ग़म की रिहाइश है

रोज़ रात तकिये पे
आंसुओं की बारिश है
धड़कने नहीं दिल में
ग़म की रिहाइश है

इश्क़ हो बराबर का
बस एहि थी चाहत
एक तरफ बेचैनी क्यूँ
एक तरफ है राहतें

तू सोये मैं तारे गिना
कचियाँ कचियाँ
कचियाँ कचियाँ है
निंदरा तेरे बिना

कचियाँ कचियाँ है
निंदरा तेरे बिना
तुम हो सोये
यहाँ पे मैं तारे गिना
कचियाँ कचियाँ

मेरे लबों पे तो
बस हैं शिकायतें
मिलती नहीं हैं
क्यूँ दर्द में रियायतें

हमम मेरे लबों पे तो
बस हैं शिकायतें
मिलती नहीं हैं
क्यूँ दर्द में रियायतें

ये टूटा दिल टूटे
ख्वाबों के सिलसिले
और कुछ नहीं हैं
ये तेरी इनायतें

bharatlyrics.com

पतझड़ यहाँ वहां पे
गुलाबों के मौसम हैं
धड़कनें वहां ज़्यादा
सांसें यहाँ कम हैं

तू सोये मैं तारे गिना
कचियाँ कचियाँ
कचियाँ कचियाँ है
निंदरा तेरे बिना

कचियाँ कचियाँ है
निंदरा तेरे बिना
तुम हो सोये
यहाँ पे मैं तारे गिना

मैं तेरे नज़दीक
तू मुझसे दूर है
सोचता है दिल
कोई बात तो ज़रूर है

मैं तेरे नज़दीक
तू मुझसे दूर है
सोचता है दिल
कोई बात तो ज़रूर है

मर्ज़ी है तेरी
इन फासलों में आखिर
इतना बता क्या
ये इश्क़-ए-दस्तूर है

मैं उदास बैठा हूँ
तू ख़ुशी की बाहों में
मंज़िलों पे तू है
मैं रह गया हूँ राहों में

तू सोये मैं तारे गिना
कचियाँ कचियाँ
कचियाँ कचियाँ है
निंदरा तेरे बिना

कचियाँ कचियाँ है
निंदरा तेरे बिना
तुम हो सोये
यहाँ पे मैं तारे गिना
कचियाँ कचियाँ.

Kachiyaan Kachiyaan Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download

Leave a Reply