Roshni Lyrics - Shivangi Sharma

Roshni Lyrics - Shivangi Sharma

ROSHNI LYRICS, The song is recorded by Shivangi Sharma from Zee Music Company label. The song is composed by Shivangi Sharma, while the lyrics of "ROSHNI" Punjabi song are penned by Vikkas Vick. The music video of the track features Shivangi Sharma.

Roshni kyun chhilki ankho se
Hain khafa bhala kin baaton se
Neendon ne bhi karvat modd li
Khwabon ne bhi dastak chod di
Phir bhi lage mujhe yahin

Roshni kyun chhilki ankho se
Hain khafa bhala kin baaton se
Neendon ne bhi karvat modd li
Khwabon ne bhi dastak chod di

Phir bhi lage mujhe yahin
Tu hai tu hai tu hai yahi kahi
Tu hai tu hai tu hai yahi kahi
Tu hai tu hai tu hai yahi kahi

Ankhon ki zidd yahi hai
Chahe tujhe dekhna
Sochu to bas tujhe sochu
Mujhe kuch na sochana

Iss dil ki latt yahi hai
Dhadke na tere bina
Ek baar de de wajah tu
Mujhse hai kyun khafa
Bewajah mujhe di saza

Bandagi kyun chute hathon se
Chandni bhi simate raaton se
Saanson ki thi sanso se judi
Pyar ki wo kasmein todd di

Phir bhi lage mujhe yahin
Tu hai tu hai tu hai yahi kahin
Tu hai tu hai tu hai yahi kahin
Tu hai tu hai tu hai yahi kahin

Roshni.

रौशनी Lyrics in Hindi

रौशनी क्यूँ छिलकी आँखों से
हैं खफा भला किन बातों से
नींदों ने भी करवट मोड़ ली
ख्वाबों ने भी दस्तक छोड़ दी
फिर भी लगे मुझे यहीं

रौशनी क्यूँ छिलकी आँखों से
हैं खफा भला किन बातों से
नींदों ने भी करवट मोड़ ली
ख्वाबों ने भी दस्तक छोड़ दी

bharatlyrics.com

फिर भी लगे मुझे यहीं
तू है तू है तू है यही कही
तू है तू है तू है यही कही
तू है तू है तू है यही कही

आँखों की ज़िद यही है
चाहे तुझे देखना
सोचु तो बस तुझे सोचु
मुझे कुछ ना सोचना

इस दिल की लत यही है
धड़के ना तेरे बिना
एक बार दे दे वजह तू
मुझसे है क्यूँ खफा
बेवजह मुझे दी सजा

बंदगी क्यूँ छूटे हाथों से
चांदनी भी सिमटे रातों से
साँसों की थी सांसो से जुडी
प्यार की वो कसमें तोड़ दी

फिर भी लगे मुझे यहीं
तू है तू है तू है यही कहीं
तू है तू है तू है यही कहीं
तू है तू है तू है यही कहीं

रौशनी.

Roshni Lyrics PDF Download
Print PDF      PDF Download

Leave a Reply